Call Us : (+91) 0755 4096900-06 - Mail : bloggerspark@scratchmysoul.com

Ishwarchandra Chanchlani : Blogs

Blog

कभी हमने भी ...

कभी हमने भी बहारों को पुरशबाब देखा था,
किसी के जूड़े में अपना लगा गुलाब देखा था |

अभी तारे हैं गर्दिश में, अंधेरा ही अंधेरा है
कभी बांहों के घेरे में हसीं महताब देखा था |

वही अब मेरी बेबसी पे मुँह को फेर लेते हैं
जिन्हें हमने कभी अपने लिए बेताब देखा था |

हंसी चाहे उड़ा लो चाहे हंस लो तुम जहाँ वालो
कभी हमने भी हंसने का सुनहरा ख़वाब देखा था |

- ईश्वर चंचलानी,
उज्जैन
@ सर्वाधिकार सुरक्षित

Post your comment

3 Comments

About The Author

Photograph

Ishwarchandra Chanchlani

Media/Journalist/Author

Madhya Pradesh ,  INDIA

I am an MA with Economics from Vikram University, Ujjain;and B.Ed. from Pune University. . I am a retired person. I am fond of writing in Hindi, Urdu and Sindhi. Many cassettes and CDs have released on my name. I have written songs in three Sindhi films namely, Jeevan chakra, Kayo Time Pass and Jaag Sindhi Jaag!


You can contact me at-

Email-id:
ishwarchandra.chanchlani@gmail.com
 
Mobile No.
8109768211

View More 

Samsung

Recent Blogs By Author

Vodafone