Call Us : (+91) 0755 4096900-06 - Mail : bloggerspark@scratchmysoul.com

Vivek Ranjan Shrivastava : Blogs

Blogs

VYANG >>मिले दल मेरा तुम्हारा

मिले दल मेरा तुम्हारा ; विवेक रंजन श्रीवास्तव ; ओ बी ११ , विद्युत मण्डल कालोनी , रामपुर जबलपुर ; ९४२५८०६२५२; मुझे कोई यह बताये कि जब हमारे नेता "घोड़े" नहीं हैं, तो फिर उनकी हार्स ट्रेडिंग...

read more

गुमशुदा पाठक की तलाश

किताबें और मेले बनाम गुमशुदा पाठक की तलाश; विवेक रंजन श्रीवास्तव ; ओ बी ११ , विद्युत मण्डल कालोनी , रामपुर जबलपुर ; ९४२५८०६२५२; हमने वह जमाना भी जिया है जब रचना करते थे , सुंदर हस्त लेख ...

read more

"साइकिल" जो किसी फेरारी, लैंबॉर्गिनी , बुगाटी या रोल्स रायल से कीमती है !

व्यंग
"साइकिल" जो किसी फेरारी, लैंबॉर्गिनी , बुगाटी या रोल्स रायल से कीमती है !
हमारी संस्कृति में पुत्र की कामना से बड़े बड़े यज्ञ करवाये गये हैं . आहुतियो के धुंए के बीच प्रसन्न होकर अग्नि...

read more

काश्मीर में पंडितो की पुनर्स्थापना

देश की अखण्डता के लिये देश के हर हिस्से में सभी धर्मो के लोगो का बिखराव जरूरी है ; विवेक रंजन श्रीवास्तव विनम्र ; अधीक्षण अभियंता सिविल, म प्र पू क्षे विद्युत वितरण कम्पनी; ओ बी ११ , विद्युत ...

read more

वाटर बाडीज , नदियो को गहरा किया जावे

जल संग्रह गहरा हो ऊंचा नहीं ; विवेक रंजन श्रीवास्तव विनम्र ; अधीक्षण अभियंता सिविल, म प्र पू क्षे विद्युत वितरण कम्पनी; फैलो आफ इंस्टीट्यूशन आफ इंजीनियर्स; ओ बी ११ , विद्युत मण्डल कालोनी ,...

read more

हर शख्स एक उपन्यास

इर्द गिर्द बिखरा यथार्थ
घर के सामने एक मैदान है । सरकारी कालोनियो में ही तो बची है अब खुली जगह वरना आड़े टेढ़े प्लाटो पर भी मकान उगा दिए गए हैं । प्रायः शामो में किसी शादी या रिसेप्शन के लिए रंगीन प...

read more

कुंभ .. " इस बार सिंहस्थ स्नान करें तो जी भर दर्शन भी करें नर्मदा जल का "

" इस बार सिंहस्थ स्नान करें तो जी भर दर्शन भी करें नर्मदा जल का " ; विवेक रंजन श्रीवास्तव; अधीक्षण अभियंता ; औ बी ११ विद्युत मण्डल कालोनी रामपुर जबलपुर ; कुंभ मेले की शुरुआत समुद्र मं...

read more

जैसे शरबत में शक्कर

जैसे शरबत में शक्कर; कितनी सहज हो तुम; रच बस जाती हो हवा में सुगंध थी; वहां जहां होती हो तुम; शुक्रवार को रिलीज फिल्म का; पहले दिन पहला शो देखते हुए; तुम वह लड़का बन जाना चाहती हो

read more

अमिताभ की अपनी दुनिया विज्ञान की

अमिताभ की अपनी दुनिया विज्ञान की ; आप भी सैर करना चाहेंगे??; तो इस लिन्क पर आइये ..; अपने ब्राउजर पर टाइप कीजीये ; w...

read more

लडकियाॅ

लडकियाॅ; मन में सपने ले सलोने; बढ रही है ये किषोरी लडकियाॅ; स्कूल में जो वृक्ष पर ; चढ रही हैं ये किषोरी लडकियाॅ; कोई भी परिणाम देखों अव्वल हैं हर फेहरिस्त में; हर हुनर में लडको पे भ...

read more

धरती की ओली से रंग भरे है

धरती की ओली से रंग भरे है; द्वार द्वार सत्कार का इजहार रंगोली; उत्सवी माहौल का अभिसार रंगोली; धरती की ओली में रंग भरे हैं; चित्रो की भाषा का प्यार रंगोली; बिंदु बिंदु मिल बने, रेखाओं से...

read more

मुन्नी सीमा पार गई, बजरंगी संग और गीता लौटी भारत में, तो गजल हुई

गजल हुई; सजल नयन जो शब्द बने तो गजल हुई; तरल हृदय जो कलम चली तो गजल हुई; अपनी अपनी पीडा तो सब पीते हैं; तेरी पीडा मैने, मेरी तूने पी तो गजल हुई; मुन्नी सीमा पार गई, बजरंगी संग और

read more

दीवाने धर्म के मय धर्म गुम गये।

; गीत गुम गये; दीवाने धर्म के मय धर्म गुम गये।; मानस भी गुम गई, कुरान गुम गये।; ‘‘दादरी‘‘ मे जो हुआ, बहुत बुरा हुआ।; दुश्मन तलाषते हुये, दोस्त गुम गये।; साजिष थी, या जुनून था जिहाद क...

read more

दिल मचलता रहा

; दिल मचलता रहा; दिल मचलता रहा, ख्वाब पलता रहा; मन मसोसे महज हाथ मलता रहा; मै समझता रहा, वो समझती नहीं; समझ, नासमझ, खेल चलता रहा; ख्वाहिषे ताउम्र बंदिषो में रही; बेरूखी दे...

read more

कैसा हो साहित्य कि जब साहित्यकार सम्मान लौटाने पर विवश हो तो भव्य जन आंदोलन खड़े हो जावें

कैसा हो साहित्य कि जब साहित्यकार सम्मान लौटाने पर विवश हो तो भव्य जन आंदोलन खड़े हो जावें ; ; विवेक रंजन श्रीवास्तव ; देश के विभिन्न अंचलो से रचनाकारो , लेखको , बुद्धिजीवियों द्वारा साहित्य...

read more

M P TOURISM dedicated blog हार्ड ग्राउंड बारासिंघा और बाघों का बसेरा ...कान्हा राष्ट्रीय उद्यान

हार्ड ग्राउंड बारासिंघा और बाघों का बसेरा; ...................कान्हा राष्ट्रीय उद्यान ; इंजी विवेक रंजन श्रीवास्तव विनम्र; प्रांतीय अध्यक्ष , वर्तिका ; ओ बी ११ , विद्युत ...

read more

Is renewable energy realy pollution free ??

‘Energy security and need to review impact of renewable energy on environment ’; Er Vivek Ranjan Shrivastava; F I E; B E , Post Graduate in Foundations ,; P G Dip in Management ,; B E ...

read more

समय का यह कैसा दौर है .

फेसबुक पर मेरे लगभग ५००० दोस्त हैं , ज्यादातर रचनाधर्मी , कलाप्रेमी , व्यंग , नाटक , कविता , पुस्तक प्रेमी मेरे से ही ...अनेको से मै कभी व्यक्तिगत रूप से मिला तक नहीं पर कहते हैं न बर्डस आफ सेम फैदर फ...

read more

'पराधीन सपनेहुं सुख नाहीं'

विशेष चिंतन .....स्वतंत्रता दिवस १५ अगस्त पर ; 'पराधीन सपनेहुं सुख नाहीं'; विवेक रंजन श्रीवास्तव ; ओ बी ११ , विद्युत मण्डल कालोनी , रामपुर , जबलपुर ; मो ९४२५८०६२५२; गोस्वामी तुलसीदास ने...

read more

आओ फिर से दीया जलाएं"

चिंतन ; सकारात्मक सोच की आवश्यकता ; विवेक रंजन श्रीवास्तव ; ओ बी ११ , विद्युत मण्डल कालोनी , रामपुर जबलपुर ; मो ९४२५८०६२५२; भरी दोपहरी में अंधियारा; सूरज परछाई से हारा; अंतरतम का ...

read more

12345678910...

About The Author

Photograph

Vivek Ranjan Shrivastava

Public & Government Service

Madhya Pradesh ,  INDIA

अभी बाकी है खुद को जानना ......

View More...

Samsung

Other Recent Posts

Gitanjali